Click on Any Booklet to Download

Incorporation: बनाएं बिज़नेस को 'Don' of the Market!

Incorporation: बनाएं बिज़नेस को 'Don' of the Market!

जब कोई अपना बिज़नेस शुरू करता है, तो उसका पहला सवाल होता है, "अरे, कंपनी रजिस्ट्रेशन करवाऊं या नहीं?" तो जान लीजिये कि ये बस एक साधारण कागज़ी कार्यवाही नहीं है, ये तो आपके बिज़नेस को एक पहचान दिलाने वाली प्रक्रिया है। कंपनी रजिस्टर हो जाने के बाद जब आप अपने बिज़नेस की बात करते हो, तो लोग आपको सीरियसली लेते हैं। आपकी बातों में वजन आ जाता है।

 

Limited Liability: सेफ्टी पहले

अब बात करते हैं लिमिटेड Liability की। ये क्या है? सोचो, अगर कल को तुम्हारी कंपनी में कुछ गड़बड़ हो गई, तो आपका नुकसान बस तुम्हारी जमा की गई पूंजी तक ही सीमित रहेगा। तुम्हारा घर, तुम्हारी गाड़ी, वे सभी सुरक्षित रहेंगे। ये एक तरह से बिज़नेस का हेलमेट है, जो तुम्हें सुरक्षित रखता है।

 

Credibility: भरोसे की चाबी

अब आता है Credibility। जब आपकी कंपनी रजिस्टर होती है, तो लोग आप पर भरोसा करते हैं। आपके साथ बिज़नेस करने में उन्हें सुरक्षा महसूस होती है। और ये Credibility ही आपको बड़ी डील्स करने में मदद करती है। बड़े निवेशक, बैंक और क्लाइंट्स सब आप पर भरोसा करेंगे। एक बार जब लोगों को लगने लगे कि आप पक्के धंधेबाज हैं, तो पैसा भी आसानी से मिलेगा।

 

सरकारी लाभ: Free ka Bonus

अब आओ चौथे फायदे की ओर। जब आपकी कंपनी रजिस्टर होती है तो तुम्हें सरकारी लाभ भी मिलते है। हां, सरकार भी आपको प्रोत्साहित करती है और कहती है, "भाई, धंधा बढ़ाओ, तभी तो देश आगे बढ़ेगा!" आपको कई प्रकार की सब्सिडी, टैक्स बेनिफिट्स और दूसरी सुविधाएं मिलती हैं, जिससे आपका बिज़नेस और तेजी से बढ़ सकता है।

 

अधिकार और सुरक्षा: ब्रांड की पहचान

आखिरी बात, जब तुम पंजीकृत होते हो, तो आपके पास अधिकार होते हैं। आपकी कंपनी का नाम, तुम्हारी ब्रांड, ये सभी चीजें सुरक्षित होती हैं। और कोई भी आपकी कड़ी मेहनत को चुरा नहीं सकता। इस तरह, आपका बिज़नेस और ब्रांड दोनों सुरक्षित रहते हैं।

 

Detailed Benefits of Incorporation

Separate Legal Entity: अलग दुनिया

जब आप अपनी कंपनी का पंजीकरण कराते हो, तो वो कंपनी अपने आप में एक अलग दुनिया बन जाती है। वह एक पृथक वैधानिक प्रतिष्ठान के रूप में मानी जाती है उसकी अपनी आईडेंटिटी होती है। वह कंपनी अब अपने आप में एक व्यक्तित्व धारण कर लेती है, कंपनी के अपने ही अधिकार और कर्तव्य होते हैं, और यह स्वयं ही दूसरों से वाणिज्यिक संबंध बना सकती है।

 

Limited Liability & Perpetual Succession: जिम्मेदारी सीमित, स्थायित्व असीमित

कंपनी के पंजीकरण का सबसे बड़ा लाभ है कि उसके मालिकों की जिम्मेदारी सीमित होती है मतलब, अगर कंपनी में कोई गड़बड़ हो गई, जैसे कि नुकसान या कर्ज आ गया, तो मालिक का सिर्फ वही पैसा डूबेगा, जो वह कंपनी में डाल चुका है, बाकी का नहीं। कंपनी में एक और खास बात है। ये ऐसे ही चलती रहती है, जैसे नौजवान हमेशा नौजवान रहता है। मतलब अगर मालिक चल बसा भी तो कंपनी वैसे की वैसे चलती रहेगी।

 

Credibility & Access to Funding: भरोसे की सीढ़ी

पंजीकृत कंपनी होने के कारण, वह बाजार में ज्यादा विश्वसनीय मानी जाती है ना सिर्फ आम जनता, जो उससे सामग्री खरीदती है, उस पर भरोसा करती है, बल्कि जो बड़े-बड़े निवेशक हैं, जो पैसा लगाते हैं, या बैंक जो लोन देते हैं, वे भी उस पर आंख बंद करके भरोसा करते हैं। पंजीकृत कंपनी भरोसे का प्रतिक होती है। इसलिए, पैसा लगाने और विश्वास करने में आसानी होती है। और हां, जो पंजीकृत नहीं है, उस पर शक की निगाहें होती हैं।

 

Ownership Transferability: आज़ादी का एहसास

जब आपकी कंपनी पंजीकृत होती है, तो उसके शेयरों को बेचना या खरीदना आसान होता है। इसका मतलब है कि यदि आप चाहें तो आप अपनी कंपनी के कुछ हिस्से या पूरी कंपनी को ही बेच सकते हैं। आसानी से स्वामित्व बदल जा सकता है, जैसे बटन दबाकर टीवी का चैनल बदलना। इससे, व्यापार में आज़ादी और फ्लेक्सिबिलिटी का अनुभव होता है।

 

Conclusion: पंजीकरण से न डरो, धंधे को नई पहचान दो

तो समझे, कंपनी पंजीकरण सिर्फ एक कागज़ी कार्यवाही का काम नहीं है। ये तो आपके बिज़नेस को एक नई उचाई देने का जादुई छड़ी है। इसलिए अगर आप अपने बिज़नेस में सच्चे हो, तो पंजीकरण से न डरो और अपने बिज़नेस को एक नई पहचान दो। Incorporation से आपका बिज़नेस होगा 'don' of the market, no one can refuse!

12 Jun

Bindu Soni
Bindu Soni

To start a new business is easy, but to make it successful is difficult . So For success, choose the best." Be compliant and proactive from the beginning and choose NEUSOURCE as your guidance partner.

Search Blog

Facebook Widget

Business Plan Report

Compliances

Startup Consulting